स्वामी विवेकानंद की 10 बातें जो आपका जीवन बदल देंगी|10 quotes of swami vivekananda change your life

Swami Vivekanand की 10 बातें।10 quotes of swami vivekananda change your life

भारत के महान महापुरुष स्वामी विवेकानंद को आज भी पूरी दुनिया अपना आर्दश मानती हैं।उनके द्वारा दिए गए आदर्श विचार को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।इस बेहतरीन लेख में स्वामी विवेकानंद की 10 बातें बतानेवाले हैं,जिससे अपनाकर आप अपना जीवन बदल सकते हो। 

Swami Vivekanand quotes in hindi

 


“यदि आप खुद को मजबूत समझते हैं,तो आप मजबूत होंगे।”

आप अपने आपको जैसा समझने लगते हों,वैसे आप बन जाते हैं।जीवन में सफलता हासिल करने के लिए हमेंशा अपने आपको मोटिवेट करना होंगा और उस कार्य को किसी भी हालत में पूर्ण करने के लिए तुम्हें खुद को हौसला देना होंगा।

 “जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं कर सकते,तब तक आप भगवान पर विश्वास नहीं कर सकते।”

लोग तुम पर विश्वास तभी करेंगे जब तुम अपने आपपर विश्वास करोंगे।किसी भी परिस्थिति में खुद पर विश्वास होना चाहिए।इसलिए खुद पर विश्वास होना चाहिए तभी आप भगवान विश्वास रख सकेंगे।

“एक समय में एक ही काम करो और इस काम करने के दौरान,अपनी पूरी आत्मा को उसमे लगा दो और बाकी सब कुछ भूल जाओ।”

कोई भी कार्य करते समय उसमें अपना पूरा ध्यान लगा दो और बस उसी कार्य करते समय वह कार्य ही दिखाई देना चाहिए बाकी सब चीजों पर ध्यान पड़ना ही नहीं चाहिए।

अपने कार्य को पूरा करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दो।ऐसा करने से एक दिन अपने कार्य का फल जरूर मिलेगा।

“संभव की सीमा जानने का केवल एक ही तरीका है,असंभव के आगे निकल जाना।”

जब तक कोई कार्य अपने हाथों में नहीं लेते तब तक ही वह कार्य असंभव लगता हैं।

“सबसे बडा धर्म अपने स्वभाव के प्रति निष्ठावान रहना हैं।”

आपके स्वभाव और आपके विचार से ही आपकी पहचान होती हैं।हमेशा अपने स्वभाव के प्रति निष्ठावान रहना चाहिए। 

“दुनिया सबसे बडी व्यायामशाला हैं,जहां हम खुदको बनाने के लिए आते हैं।”

दुनिया विशाल हैं।इस दुनिया में भिन्न भिन्न प्रकारके लोग रहते हैं।हम कोई भी व्यक्ति में से अच्छी चीज सिख कर हम खुद को बेहतर बना सकते हैं।

“भारत के विकास एवं प्रगति में योगदान देना प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य हैं।”

हमे अपनी योग्यता के अनुसार समाज में अपना योगदान देना ही चाहिए।अपना छोटा सा योगदान भी भारत के विकास एवं प्रगति में काम आ सकता हैं।

“बंधन और भ्रम को दूर करने के लिए,कार्य और पूजा आवश्यक हैं।”

भगवान के प्रति पूर्ण श्रद्धा होनी चाहिए,किंतु अंधश्रद्धा नहीं होनी चाहिए।पूजा करने से भ्रम भी दूर होगा।मन भी प्रफुलित होगा।कार्य करने से भी मन और तन प्रफुलित होगा। 

“दिन में एक बार अपने आप से बात करें।अन्यथा आप इस दुनिया में एक उत्कृष्ट व्यक्ति से मिलने से चूक सकते हैं।”

हमे अपने आप से दिन में एक बार तो जरूर बात करनी चाहिए।ऐसा करने से हम अपनी खूबियों और खामियों का पत्ता कर सकते हैं।खुद से बात करके खुद को मोटिवेट कर सकते हैं। 

“ब्रह्मांड की सारी शक्तियां पहले से ही हमारी हैं।यह तो हम हैं जो अपनी आंखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं की कितना अंधेरा हैं।”

भगवान ने हम सबको बहुत ही कमाल की शक्ति दी हैं।बस उसे हमे पहचानने की जरूरत हैं।अपने अंदर जाकर नजर डालो तुममें भी बडी गजब की चीज छिपी हैं उसको पहचानो और लगा दो अपने जीवन में फिर देखो क्या चमत्कार होता हैं।

यह लेख भी जरूर पढें :-

स्वामी विवेकानंद का दिव्य चरित्र part -1

स्वामी विवेकानंद का दिव्य चरित्र part – 2

स्वामी विवेकानंद का दिव्य चरित्र part-3

10 success tips in hindi | जीवन में सफलता हासिल करने के लिए क्या जरूरी हैं

हम खुद को मोटिवेट कैसे कर सकते हैं?

महान लोगों के सफलता पर प्रेरणादायक विचार

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *